दोस्तो सिरदर्द आज कल प्रायः जो लोग ज्यादा तनाव में रहते है उनको या किसी और कारण से रहता ही है | Headache in Hindi  एक अनुमान के अनुसार विश्व मे 7.2 अरब से ज्यादा लोग सिर के दर्द से कभी न कभी परेशान रहते ही है। ज्यादातर तो यह गंभीर नही रहता लेकिन अगर इसे ज्यादा अनदेखा करना ठीक नही है यह छोटा सा सिर दर्द  धीरे धीरे बढ़ सकता है ।
Headache types
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) अनुसार:- सिरदर्द(headache), जो बार-बार आता रहता है, निजी व सामाजिक जिम्मेदारी के साथ-साथ दर्द,असमर्थता, बिखरी हुई जिन्दगी, वितीय नुकसान की वजह बनता है। दुनियाभर में बहुत कम ही लोग सिरदर्द की बीमारी का किसी डॉक्टर से उचित पहचान कराकर इलाज कराते हैं. पूरी दुनिया में सिरदर्द को बहुत हल्के में लिया जाता है और इसकी पहचान, इलाज भी कम ही कराया जाता है।'

सिरदर्द को ज्यादा तर लोग समझ नही पाते क्योंकि सिरदर्द एक ही प्रकार का नही होता बल्कि इनके भी कुछ प्रकार होते हैं |

 तो आइए जानते हैं सिरदर्द के प्रकार व कारण उपाय के बारे में


1 कल्स्टर सिरदर्द:-
https://www.healthfits.in/2020/06/headaches-types.html

 यह इस प्रकार का सिर दर्द होता है ,जिसमे चेहरे, सिर और गर्दन के एक हिस्से में ही दर्द होता है। यह दर्द दोनों हिस्सों को प्रभावित नहीं करता है। जब इस तरह का सिर दर्द हो तो नीचे बिलकुल ना झुकें। Headache in Hindi  इससे दर्द और बढ़ सकता है। ऐसे में आपको एल्कोहल और धूम्रपान की आदत को छोड़ देना चाहिए।ये सब स्वास्थ के लिए बहुत ही हानिकारक है। (cluster headache in hindi)

2 तनाव से सिरदर्द:-
https://www.healthfits.in/2020/06/headaches-types.html

सामन्यत: अगर देखा जाए तो ज्यादातर लोग तनाव से परेशान रहते हैं क्योंकि आज की दिनचर्या भी वैसे ही तनाव युक्त हो गया है और इसी कारण तनाव से सिर में दर्द होने लगता है। इस प्रकार दर्द होने पर सिर का पूरा हिस्सा या दोनों साइड प्रभावित् होते हैं। इस दौरान शारीरिक गतिविधियाँ का सिरदर्द पर कोई असर नहीं होता है। ये मांसपेशियों में सिकुड़न के कारण होता है। ये सिरददर्द लंबे समय तक तनाव के रहने के कारण होता है। 90 प्रतिशत सिरदर्द इसी कारण होते हैं और आमतौर पर खुद ही ठीक हो जाते हैं।(tension headache in hindi)

3 माइग्रेन:-
https://www.healthfits.in/2020/06/headaches-types.html

 यह दर्द सिर के एक हिस्से में दबाव के साथ और आंखों के पीछे होता है। अगर आप इस दौरान सामान्य शारीरिक गतिविधि करते हैं तो दर्द बढ़ सकता है। माइग्रेन की समस्या ज्यादातर आनुवांशिक होती है। यह सिरददर्द हर किसी में अलग-अलग होता है। माइग्रेन से कई बार धीरे-धीरे और कई बार तेज दर्द होने लगता है। इसका कारण किसी भोज्य पदार्थ एलर्जी भी हो सकता है।(migraine in hindi)

4 ज्यादा नशे के कारण:-
https://www.healthfits.in/2020/06/headaches-types.html

इस प्रकार का सिर दर्द प्रत्येक लोगो को नही होता यह केवल उन लोगो को होता है जो अत्यधिक मात्रा में नशा करते हैं। वह नशे के आदि हो जाते है और जब उन्‍हें नशा नही मिलता है तो उनके सिर में दर्द होने लगता है। यह इसलिए होता है क्‍योंकि  नशीले पदाथों के सेवन  से ऊतकों पर उत्तेजक प्रभाव पड़ता है, जिससे ऊतको का आवरण उत्तेजित होता है। मस्तिष्क में इस तरह की उत्तेजना के कारण सिरददर्द होता है।तो दोस्तो सावधान रहिये और ज्यादा नशे का सेवन करने से बचें| (headache treatment in hindi)

5 दांत के दर्द से:- 
https://www.healthfits.in/2020/06/headaches-types.html

इस तरह के सिर दर्द में अकसर इस कारण दर्द होता है क्योंकि दांतो में कीड़े लगने अथवा अक्ल दांत आने के कारण हमारे जबड़े में सभी ओर दर्द उत्पन्न हो जाता है जिसका सीधा असर हमारे मस्तिष्क पर लगता है।  ऐसे में डॉक्टर से सम्पर्क करना उचित रहता है वो इस दर्द के किन्ही कारणों का पता लगाकर इनका निवारण करते हैं जिससे आपको सिर और दांत दर्द दोनों में राहत मिलती है।

6 नींद पूरी ना होने के कारण:-
https://www.healthfits.in/2020/06/headaches-types.html

 सिरददर्द कई प्रकार के होते हैं जैसे- अधिक देर तक सोते रहने या कम समय सोने से, नींद पूरी न होने के कारण भी सिरददर्द हो सकता है। कभी-कभी नींद के बीच-बीच में टूटने के कारण भी सिरदर्द होता है। ऐसे में अपने शरीर की जरूरत को समझे और नींद पूरी करें जिससे आप सिरदर्द से बच सकते हैं।।

7 दवाओं से:-
https://www.healthfits.in/2020/06/headaches-types.html

दोस्तो कुछ दवा के कारण कभी कभी हमारा सिरदर्द करने लगता है कभी-कभी कुछ दवाईयां भी सिरदर्द का कारण होती हैं जैसे हृदय रोगों में ली जाने वाली दवाईयां और उच्च रक्तचाप होने पर ली जाने वाली दवाईयां। इसलिए हमेशा कहा जाता है कि जब तक बहुत जरूरी ना हो इन दवाओं का सेवन ना करें। इसलिए आप दवाइयों के सेवन में सावधानी रखें।।

 सिरदर्द के घरेलू उपायों के बारे में

दोस्तो सामन्यतः लोग सिर दर्द होने पर दवाइयाँ लेना चालू कर देते हैं जिससे दर्द तो ठीक हो जाता है लेकिन यह हमारे स्वास्थ्यके  लिए हानिकारक भी हो सकता है  इसलिए आइये जानते है |
टेम्परेरी सिर के दर्द के घरेलू उपाय

तुलसी:-
तुलसी प्रायः सभी के यहां पाया जाता है यह पौधा अत्यंत ही गुणकारी होता है  यदि आपको सर्दी जुकाम के कारण सिरदर्द करता है तो आप एक गिलास पानी मे तुलसी के 5 पत्तो को उबालकर पीलें| आपका सिरदर्द 10 मिनट में ठीक हो जाएगा।  Home Remedies For Headache In Hindi

दूध,हल्दी व केसर-
https://www.healthfits.in/2020/06/headaches-types.html

सिरदर्द को 10 मिनट के अंदर भगाना है तो एक और तरीका है जिसमे आपको एक गिलास गर्म दूध लेना है और उसमें थोड़ा-सा केसर और दो चुटकी हल्दी मिलानी है और उसे पी जाना है ऐसा करने से आपका सिरदर्द पल भर में गायब हो जाएगा और आपके सिरदर्द को आराम मिल जाएगा ।

 आयुर्वेद से इलाज:- 
https://www.healthfits.in/2020/06/headaches-types.html

आयुर्वेद के अनुसार यह विधि बताई गई है कि यदि बहुत सिरदर्द हो रहा हो तो अपने नाक के दोनों छेद में दो-दो बूंद पिघला हुआ शुद्ध घी डाल दें, 10 मिनट में आपके सिरदर्द को आराम मिलेगा और यदि आप रोज़ दो-दो बूंद घी अपने नाक में डालते हैं तो इससे आपकी मेमोरी पावर भी बढ़ेगी और आपका दिमाग तेज़ बनेगा । लेकिन आप शुद्ध घी का ही उपयोग करे। (sir ke pichle hisse me dard ka ilaj)

लहसुन-
https://www.healthfits.in/2020/06/headaches-types.html

लहसून के कुछ टुकड़े लें और इसे निचोड़ कर रस निकालें। कम से कम एक चम्मच रस निकालें और पीएं। दरअसल लहसुन एक पेनकीलर के रूप में काम करता है, जिससे सिरदर्द से राहत पहुँचता है। इसीलिए आप नार्मल सिर के दर्द में इसका उपयोग कर सकते हैं। 

तो ये थे सिरदर्द - Headache in Hindi |  दोस्तो कई सिर दर्द नार्मल नहीं होते अगर आपका सिर दर्द ठीक ही नहीं हो रहा तो आप किसी अच्छे डाक्टर के पास अवश्य जाएँ।

11 Comments

please do not enter any spam link in the comment box

Post a Comment

please do not enter any spam link in the comment box

samsung galaxy m30s

StarX pvc20kg